मेरा बॉयफ्रणड - Indian Sex Story-43


007

Administrator
Staff member
Joined
Aug 28, 2013
Messages
68,486
Reaction score
429
Points
113
Age
37
//gsm-signalka.ru This story is part 42 of 42 in the series

मेरा बाय्फ्रेंड - Indian Sex Story-43
मेने सोचा चाट पर तो बहुत मज़ा आयगा..पूरी नंगी चाट पर घूमूंगी और किसी के देखने का भी ख़तरा नही था..रात जो हो गई थी..फिर हम खाना खाने बेठ गये..भाभी ने सज़ा दिया था सब..बस प्लेट निकल के खाना ही खाना था..मेने जैसे ही चम्मच उठाई और एक बड़े बर्तन से सब्जी लेने लगी..वैसे ही भाभी ने मुझे चिल्लाया.

भाभी-आरीईईईई शिख्ाआ.नही बेटा नही..उसमे से नही..तू ये सब्जी ले जो यहा रखी है..

मेने भाभी की तरफ देखा की उन्होने ऐसा क्यो कहा..

मे-वॉट भाभी..???

भाभी-अरे शिखा.तू भी ना..तू इसमे से लेले..

और भाभी मेरे पास आई और वही रखे दूसरे बर्तन मे से सब्ज़ी निकल के मुझे देने लगी..में उन्हे ही देख रही थी की वो ऐसा क्यो कर रही है..और वो अपनी नज़रे चुरा रही थी मुझसे..मेने भाभी का हाथ पकड़ा और कहा..

मे-भाआभीइ...क्या हो रहा है ये सब.बातायँगी आप..

भाभी-अरे बेटा ये सब्जी मेने अपने लिए बनाई है..

मे-पर में क्यो नही कहा सकती इसे

भाभी-क्योकि..यार शिखा प्लीज़ मत पूछे मेरी रानी.

मेने थोड़े गुस्से से कहा..

मे-भभहिईीईईईई....

भाभी-हहहे अरे मेरी रानी..ओके चल खाने के बाद बताउँगी..तू कहा ना जल्दी.आज तो तेरी चुत की स्मेल मुझे पागल कर रही है..

मे-हाहहहा जी हां मुझे भी आज आपकी चुत को खाना है हाहाहा

और फिर भाभी सामने जा के बेठ गई और हम खाना खाने लगे..मेने देखा की भाभी वो सब्जी पागलो की तरह कहा रही है..मुझे कुछ अजीब लगा लेकिन में हंस दी और फिर हमने खाना ख़त्म किया..और भाभी बर्तन रखने लगी और में जाके टीवी देखने लगी..नंगी होकेर बेठ्ने मे मुझे अजीब लग रहा था सो मेने जाकर अलमारी से एक चादर निकली और उसे ओढ़ कर बेठ गई..टीवी पर मूवी आ रही थी हॉलीवुड की सो वही देखने लगी..इतने मे भाभी आ गई..

भाभी-अरे वाह आपने इतना कास्ट क्यो किया..

मे-हहहे अरे भाभी अजीब लग रहा था बिना कपड़ो के सो चादर ओढ़ ली..आपका प्रोग्राम स्टार्ट होगा तब हटा दूँगी..

और भाभी मुझे देख के हंस दी.और आके सोफे पर बेठ गई..

भाभी-शिखा अब तू कल चली जयगी सो आज मुझे अपने बड़े मे बता..

मे-आप सब तो जानती है भाभी..क्या बताऊ..

भाभी-हम चल तुझे मेरी कसम है सच सच बता की रहूल के लॅंड के अलावा सच मे तूने आज तक किसी का लॅंड नही देखा..

मेने कुछ सोचा फिर कहा..

मे-नो भाभी..किसी का भी नही..

भाभी-मेरी कसम.

मे-हां भाभी.

भाभी-शिखा ऐसा कैसे हो सकता है यार.किसी का तो देखा होगा ना..

मे-भाभी लेकिन आप प्रॉमिस कीजिए की कभी भी किसी भी हालात मे आप किसी को कुछ नही कहेंगी..क्योकि ऐसा दो बार हुआ है लेकिन वो मेरी ग़लती नही थी ना ही मेरा मन था लेकिन अपने आप हो गया था..

भाभी-शिख्ााअ.बेटा तुझे लगता है अपने बीच जो हुआ इतने दीनो उसके बाद में तेरी कोई भी बात किसी से भी शेयर करूँगी..

मे-नो भाभी..ऐसा कुछ नही है..ओके..सुनिए..

भाभी-हां बोल..

मे-एक बार में शादी मे गई थी तब एक लड़के ने मेरी गांड और चुत मे उंगली की थी..ई हटे डेठ टाइम लेकिन क्या करू..मजबूर थी..

भाभी-हां तू ये बात बता चुकी है..

मे-हां भाभी सुनिए तो..पर उस समय उसने अपना लॅंड नही दिखाया था मुझे..या मेने देखा नही था..वॉटेवर..उसके बाद जब में एक बार रहूल के साथ मूवी देखने गई थी ना तब.

भाभी-ओह जीसस..क्या बात कर रही है आयर..पर वाहा क्या रहूल के सामने.???

मे-नूऊओ भाभी..पागल हो क्या..वो रहूल जब बाहर गया था कुछ लेने तब कोई लड़का मेरे पास आके बेठ गया था..पर मुझे लगा रहूल होगा क्योकि उस समय मुझे बहुत शर्म आती थी..

भाभी-आरीई शिखा प्लीज़ पूरी बात बता में समाज़ नही रही हूँ यार..

मे-ऊफ़्फूओ भाभी.तो सुनिए..रहूल मुझसे कह रहा था की में उसका लॅंड अपने हाथ मे लू और उसे हिलौ..लेकिन में मना कर रही थी बार बार..सो वो गुस्से मे था..और उसका गुस्सा बहुत बुरा होता है..सो मेने उससे कहा की ओके जाओ तुम बाहर से कुछ ले आओ तब में हाथ मे पकड़ लूँगी तुम्हारा लॅंड..तो उसने कहा की मूह मे भी लेना.तो में मना करने लगी..पर रहूल ने मुझे मना लिया तो मेने उससे कह दिया की ओके जाओ कुछ लेके आओ..उसके बाद में कर लूँगी बस.और वो खुशी खुशी बाहर चला गया..मेने उससे ऐसा कह दिया था की तुम आके बेठ्ना और में ये काम करने लगूंगी..पर में देखूँगी नही..सो थोड़ी देर बाद मुझे लगा की रहूल आके बेठा है पर वो रहूल नही था..सो मेने उसका लॅंड अपने हाथ मे लिया था और उसे बहुत देर तक हिलाया और उसके बाद मेने उसे मूह मे लिया तभी मुझे अहश्ाह हुआ की रहूल का लॅंड इतना बड़ा नही है..सो मेने ऊपर देखा तो वाहा कोई और था..

भाभी-वााूओ शिखा.तो फिर तूने फिर से मूह मे लिया या नही..

मे-पागल हो क्या भाभी.च्चिि.में रहूल के अलावा किसी के साथ ऐसा नही कर सकती..आपको पता है..सो मेने उसे चिल्लाया और कहा की जाओ यहा से जल्दी वरना मेरा बाय्फ्रेंड आ जायगा..सो उसने अपना कार्ड मुझे देके चला गया था..

भाभी-तो वो कार्ड है कहा..

मे-रखा हुआ है..बेग मे..

भाभी-अरे वाह रही मेरी सीधी बच्ची..लगता है उसका लॅंड पसंद आ गया था तुझे..तभी कार्ड नही फेका उसका..हहहे

मे-चुत उप भाभी.ऐसा कुछ नही है..वो मेने इसलिए संभाल के रकाहा है की कभी कोई ज़रूरात हुई तो उसी गढ़े को बोल दूँगी क्योकि वो ज़रूर करेगा मेरा कोई भी काम..




भाभी-ओये होये..बुइस्सनेस्स मन बाय्फ्रेंड होने से दिमाग़ बहुत तरफ गया है मेडम का..हाहहहा

मे-हहहे जी हां भाभी..वैसे भी रहूल के लावा मुझे किसी का लॅंड नही पसंद है..

भाभी-ओकककककक तू गुनगुनाती रही रहूल का लॅंड जिंदगी भर..और दूसरी बार कब..

मे-वो भाभी जब में मौसी के यहा थी ना तब हुआ था..

भाभी-आस मतलब यहा आने के पहले मुंबई का लॅंड देख चुकी है आप..और हमसे शरमाती है..

मे-हाहाहा भाभी सुनिए तो..वो तो पता नही कौन था..मौसी के किचन के बाहर एक बार मेने उसे बाथरूम करते देखा था..उसका लॅंड बहुत बड़ा था भाभी और में तो बस देखती ही रही गई..उफ़फ्फ़ कैसे लेती होंगी लड़किया अपनी चुत मे..

भाभी-वो जब पहली बार रहूल का लॅंड जायगा ना तेरी चुत मे..उसके बाद मन करेगा तेरा सबके लॅंड मूह मे और चुत मे लेने का..

मे-ऊओफ्फूहो भाभी..कैसी बात कराती है आप..ऐसा नही होगा..ई लव रहूल ओआ उसका लॅंड भी बहुत प्यारा लगता है मुझे..

भाभी-हां तो बता फिर क्या हुआ..

मे-कुछ नही..बस ऐसे ही वो लॅंड दिखता था और चला जाता था..बस वाहा इससे ज़्यादा कुछ नही हुआ..(मेने पूरी बात भाभी को बठाना ज़रूरी नही सम्ज़ी)

भाभी-वऊओ यार.मस्त है तेरी कहणाई तो..बहुत मज़ा आया होगा ना..

मे-नो भाभी जस्ट होता गया और बस.

भाभी-अरे क्या होता गया यार..देख तेरे मूह से लॅंड लॅंड सुनके मेरी चुत का क्या हाल हो गया है..

और भाभी धीरे धीरे मेरे पास आई और मेरी चादर हटा दी..

भाभी-देख शिखा ज़रा अपने आप को..कितना सेक्सी बदन है तेरा..क्या बूब्स है और चुत मे से भी किसी फूल की महक आती है..तू इतनी सुंदर क्यो है यार..तेरी पसीने की खुश्बू भी किसी लड़के को पागल कर सकती है..और यहा तक की तेरी पेशाब भी बहुत टेस्टी है शिखा..

भाभी की ये बात सुन के में शॉक्ड हो गई..

मे-वॉट भाभी...क्या कहा आपने..

भाभी-अरे पागल बस चख के देखी थी..हहहे

मे-व्हााआआआत....आप पागल है क्या..

मुझे गुस्सा आ रहा था और भाभी को मस्ती आ रही थी..

भाभी-शिख्ाआ.क्या आप लगा रखा है..तू बोल के बात कर मुझसे..

मे-नो भाभी..में आपकी बहुत इज़्ज़त कराती हूँ..

भाभी-हां दिन रात मुझे यहा चोद रही है..और इज़्ज़त कराती है..वाह..हाहाहा

मे-भाआभी.आप बताइए की आपने ऐसा क्यो किया..मेने मना किया था ना..
भाभी इधर उधर देखने लगी इतरा के..

भाभी-क्या.आपने मुझसे कुछ कहा..

मे-ओकककक.तूने पेशाब क्यो पे मेरी..

भाभी-हाा थ्ट्स में गर्ल..वो मुझे बस चखना थी सो चख ली..

मे-आप ना यार.

भाभी-आरीईईईई

मे-ह्म्‍म्म्म..तू ना यार पागल है..

भाभी-नाम ले ना यार मेरा..

मे-भाआभी.की6आ बचपाना लगा रखा है..

भाभी-प्लीज़ आज की रात मेरी बात मन ले प्लीज़.

उन्होने इतने प्यार से कहा था की बस..मेरी चुत के फाकॉ को हिला दिया था..
मे-ओककककक मेरी मीनू..तू ना बहुत बड़ी कुतीया है..मेरी पेशाब भी पे गई यार तू..
भाभी-हां तो फिर यार..तेरा रहूल भी नही पे सकता वो तो..

मे-प्लीज़ यार भाभी..तू उसे बीच मे मत ला..

भाभी-ओककककक ई नो उसके पास लॅंड है ना सो तू उसके खिलाफ तो सुन ही नही सकती..हहहे

मे-उफफफफ्फ़ तू ना.

भाभी-आस तेरी ये आँखे.प्लीज़ जल्दी आके मेरी चुत को चाट यार.गाल रही है पूरी..

भाभी ने अपनी टाँगे फैला के कहा..और सच मे उनकी चुत से बहुत पानी निकल रहा था..मेरे मूह मे पानी आ गया और में जल्दी से उठी और उनकी टॅंगो के पास जाके बेठ गई और उसे उठा के अपना मूह उनकी गीली चुत के ऊपर रख दिया..सच मे बहुत ही महकती हुई खुश्बू थी..एक दम किसी गार्डेन मे लगे ताज़े फूल की तरह..में सुडूप सुडूप कर के उनकी चुत को चातने लगी जैसे कोई कुत्ता अपनी कटोरी को चाटे है..पूरे कमरे मे सिर्फ़ भाभी की सिसकिया और मेरी चुत चातने की आवाज़ आ रही थी..जो हम दोनो को और ज़्यादा पागल कर रही थी..मेने हाथ ऊपर ले जा के भाभी के ब्रेस्ट को भी दबाना स्टार्ट कर दिया..और वो आँहे भरने लगी..करीब 10मीं तक उनकी चुत को चातने के बाद मुझे अचानक पेशाब आने लगी तो मेने कहा..

मे-भाभी..एक मिनट मुझे पेशाब आ रही है..अभी आती हूँ ओके..

मेरी ये बात सुनके भाभी के चेहरे पर बहुत खुशी आ जाती है और वो खड़ी होके पागलो की तरह मुझे चूमने लगती है और फिर कहती है..

भाभी-शिखा मेरी जान..प्लीज़ बेटा यही कर लेना..

मे-उफ़फ्फ़ भाभी.आप ना..यहा कैसे करूँगी हॉल मे..

भाभी-हां ना प्लीज़ तू यही कर ले..

मे-भाभिईीई..यार गंदा हो जायगा यहा..

भाभी-हाऊ ना तो.तू क्यो तेनतीओं ले रही है..में सॉफ कर दूँगी बेटा..तू तो कर ले..

ऐसा कहके भाभी ने मेरी बाँहे पकड़ कर मेरी गांड मे एक छाँटा मराते हुए मुझे मूतने के लिए सोफे के सामने ही बिठा दिया..जब में बेठी तो भाभी मेरे पीछे आके मेरी गांड जो की फैल गई थी वो देखने लगी और कहने लगी..

भाभी-उफ़फ्फ़ यार शिखा..क्या मस्त गांड लगती है तेरी मुत्ते समय..

ऐसा कह के भाभी मेरे साइड मे आके बेठ गई..

मे-अब आप क्यो बेठ गई..

भाभी-अपनी चुत को किसी चिराग की तरह रग्ढ़ते हुए..
मेरा बाय्फ्रेंड - Indian Sex Story-43

मेरा बॉयफ्रणड - Indian Sex Story


Users Who Are Viewing This Thread (Users: 0, Guests: 0)


Online porn video at mobile phone


susar ki paltu randiगलती से चुदाईதமிழ் காமகதைகள்mummy ke sath mazaमराठी Xxx कथा पुलिसवाला Xxx कथाmummy ne bussness ke liye uncle se chudvayaகூதி அரிப்பு அடங்காத மனைவிகள்Uth bhi nahi paa rahi thi with gandsexstoriebatiதிரும்புடி பூவை வைக்கணும்অপরিচিত মেয়েকে গালি দিয়ে চোদার চটিঘন বিয ভোদার ভিতর ঢেলে দিলামஅண்ணி அமிதா ச***** வீடியோஹரிணி ஓல் கதைভোদা চুদে খাল করে দিলো তার গল্পகிராமத்து அக்குள் காமக்கதைSirumiyai otha kathaitamil latest kullan gobal Kama storiesபூங்கொடி காமக்கதைEk khofnak raat hindi novel 51నీరజా పూకుతో కధలుsahab aapka lund bahut bada hai naukrani ne kahaবগল কামানোपाय फाकवुन बोटेதிரும்புடி பூவை வைக்கனும் -5கட்டிவச்சு Pornxxx techar Hindi ma satadisexstoriebatiसाडीतील भाभीचा सेक्सpuchyar ,xxxcomராத்திரி – பாகம் 0 இறுதி – அம்மா காமக்கதைகள்தங்கை புண்டைல கஞ்சிசகீலா best sex vidosतुझा लवडा माझ्या पुचितಆಂಟಿಯ ತುಲ್ಲುसगी शादी शुदा बहन के साथ दारू के नशे.मे सेकस कियाamma athai idam paal kudikka sonnal tamil sex storyನನ್ನ ತುಲ್ಲಿಗೆ ಕೈ ಹಾಕೋNanum en nanbanum sex talil storiesചേച്ചിയുടെ ചക്ക കന്ത്குடும்பத்துக்குள் நடக்கும் செக்ஸ் உறவுআপুর চুদে দেBangla choti ধর্ষন বান্ধবীஇழுத்து வச்சு ஓலுடா காம கதைகள்அழகு சுன்ணிবউ এর গুদে চাকরअंकलने जबरदस्तीने जवले कथाಆಂಟಿಯ ತಿಕ ನೆಕ್ಕಿದ್ದುಯುವತಿ ಸಂಭೋಗஅடி தடி காமகதைகள்నా పేరు రవి (30) మా ఆవిడ పేరు పల్లవి, వయస్సు 27, మా పెళ్ళయి 2 సంవత్సరాలు అయ్యింది. పల్లవి 5 అడుగుల 7 అంగుళాల ఎత్తుతో పచ్చని మేలిమి బంగారు రంగులో మెరిసిపోతూ రతీ దేవతలా ఉంటుంది, ఇంత అందమైన అప్సరలాంటిthammudiki banisa Telugu sex kathaluপরিকিয়া করে পাচা চোদাচুদিফুল কচি গুদ চোদার গল্পoru savi niraya pootuमुझको चोद आराम सेಅಮ್ಮನ ಜೊತೆಗೆ ಸಂಭೋಗमित्र ची सेक्सी आंटीबरोबर झवलोमित्राच्या आईने लंड पाहिलाகூதி அரிப்பு அடங்காத மனைவிகள்Bhai ne liya didi se jnamdin ka gift antarvasana.comएक टिचर मुलगा सेश करतो कहानीmob മലയാളം ഫാമിലി insent ആന്റി സ്റ്റോറീസ്சௌந்திரத்தின் மூத்திரத்தை குடித்தேன்மல்லிகா அத்தை சூத்துबहन कि बगिचे मे गांड मारी sax storyAntarvasna मागुन लंड घासु लागलाSex পিয়াহमुलीचा भोकात लंडবাংলা মা এবং ভাতারের চটি গল্প